Subscribe

RSS Feed (xml)

Powered By

Skin Design:
Free Blogger Skins

Powered by Blogger

Thursday 25 June 2009

किसने किसको क्या समझाया पता नहीं

किसने किसको क्या समझाया पता नहीं
कैसे राज़ समझ में आया पता नहीं

Wednesday 24 June 2009

हर मुश्किल का हल निकलेगा

हर मुश्किल का हल निकलेगा
आज नहीं तो कल निकलेगा

Tuesday 23 June 2009

उसने चंद लकीरें छोडी

उसने चंद लकीरें छोडी मेरी मुट्ठी में
लोग कहे है माल करोडी मेरी मुट्ठी में

Sunday 21 June 2009

बहला-फुसला कर वह मुझको

बहला-फुसला कर वह मुझको कुछ ऐसे भरमाता है
सात समंदर पार का सपना सपना ही रह जाता है

Saturday 20 June 2009

कभी फूल को चाँद कह कर पुकारा

कभी फूल को चाँद कह कर पुकारा
कभी नाम खुशबू दिया चांदनी को
चकित हैं सितारे नजारे अचंभित
हुआ क्या अरे क्या हुआ आदमी को

Wednesday 17 June 2009

नींद हमारी ख्वाब तुम्हारे

नींद हमारी ख्वाब तुम्हारे कैसी जोर-ज़बरदस्ती
प्यार मुसीबत निकला यारों हम तो समझे थे मस्ती

Tuesday 16 June 2009

तौबा करले

रिश्तों को उलझाने से तौबा करले
दिल को और दुखाने से तौबा करले

Monday 15 June 2009

अमृत का स्वाद चखा

अमृत का स्वाद चखा तो जहर पिया मैंने
छोटे से जीवन को क्या खूब जिया मैंने

Thursday 11 June 2009

इश्क में मुब्तिला नहीं होता

इश्क में मुब्तिला नहीं होता
तो मुसीबतजदा नहीं होता

Monday 8 June 2009

फ़ैल रही है घोर निराशा

फ़ैल रही है घोर निराशा कमजोरों लाचारों में
बैद-हकीम-चिकित्सक सारे खुद शामिल बीमारों में

Sunday 7 June 2009

धारा के तेवर

धारा के तेवर क्या पता किनारों को 
छुप छुप देखा करता वक़्त नजारों को 

Saturday 6 June 2009

उनके गुस्से से घबरा मत

उनके गुस्से से घबरा मत कर मत रंज सजा पर तू  
उनकी नज़रें हर पल तुम पर खुश रह इसी बिना पर तू 

Friday 5 June 2009

मैं दीवाना

उनसे जब मिल कर आया मैं दीवाना  
चरणों में सब धर आया मैं दीवाना