Subscribe

RSS Feed (xml)

Powered By

Skin Design:
Free Blogger Skins

Powered by Blogger

Friday 10 July 2009

इधर तुम हो खफा

इधर तुम हो खफा नाराज़ है दुनिया उधर सारी
तुम्हारा नाम ले ले कर सताना है अभी जारी

मुझे क्या थी खबर हो जाएगा उलटा असर यारों
कि ऐसा हाल कर देगी कभी मेरी वफादारी

न तुम मिलते न दिल मिलते न मिलते गर क़दम अपने
शुरू में ही सिमट जाती हमारी तो कथा सारी

कभी उठते कभी गिरते कभी हारे कभी जीते
तुम्हारे साथ का जादू कभी हिम्मत नहीं हारी

न थी उम्मीद तेरा भी तरीका हू-ब-हू होगा
कि मेरे नाम पर इल्जाम सब मुझको सज़ा सारी

मुडे वो राह से वापस कि "जोगेश्वर" न सुधरेगा
सिखाने आ रहे थे जो मुझे अपनी कलाकारी

2 comments:

Udan Tashtari said...

कभी उठते कभी गिरते कभी हारे कभी जीते
तुम्हारे साथ का जादू कभी हिम्मत नहीं हारी

--छा गये भाई..बहुत उम्दा!!

venus kesari said...

मुझे क्या थी खबर हो जाएगा उलटा असर यारों
कि ऐसा हाल कर देगी कभी मेरी वफादारी


बहुत खूबसूरत

वीनस केसरी